एलिएंट कैप्सूल – बच्चों और युवाओं में होने वाली स्किन एलर्जी का समाधान

बच्चों कि स्किन बहुत नाजुक तथा कोमल होती है। इस प्रकार की स्किन को विशेष देखभाल की आवश्यकता होती है। यह किसी भी चीज से जल्दी ही प्रभावित हो जाती है अतः आपको कुछ बातों का ध्यान रखना बहुत आवश्यक होता है ताकी बच्चे में इस प्रकार की समस्याएं न हों सकें। किसी  भी बच्चे में स्किन एलर्जी के कई कारण हो सकते हैं। कई बार यह एलर्जी काफी दिन तक सही नहीं होती है इसलिए स्किन विशेषज्ञ की सलाह की जरुरत भी पड़ जाती है। धूल, धूप तथा मिट्टी में खेलने के कारण बच्चों में स्किन एलर्जी संबंधी समस्याएं हो जाती हैं। ऐसे में यदि शुरूआती लक्षणों को पहचान कर उनका उपचार कर लिया जाए तो बहुत सी समस्याओं से सहज ही मुक्ति मिल सकती है।

 बच्चों और युवाओं में होने वाली स्किन एलर्जी –

1 – छोटे बच्चों में अक्सर डायपर डर्मेटाइटिस की समस्या देखने को मिल जाती है। इस समस्या में गीले नैपकीन से बच्चे की स्किन में लाल रैशेज हो जाते हैं।  

2 – रिंगवर्म प्रकार का फंगस होता है और इसके कारण बच्चों की स्किन में लाल चकत्ते पड़ जाते हैं।

3 – अर्टीकेरिया की समस्या में छोटे बच्चों की स्किन में खुजली हो जाती है तथा लाल घेरे बन जाते हैं।

4 – चिकेन पॉक्स की समस्या बच्चों में सबसे अधिक देखने को मिलती है। कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता वाले बच्चों के लिए यह बहुत घातक होता है।

5 – स्कार्लेट फीवर नामक समस्या सबसे ज्यादा स्कूल-कॉलेज जानें वाले बच्चों  मिलती है। इसमें बच्चों के गालों, हाथों तथा तलवों पर लाल घेरे हो।  इसके अलावा गले की जकड़न या बुखार की समस्या भी हो जाती है।

एलर्जी होने के कारण –

एक्सपर्ट कहते हैं कि गावों की अपेक्षा यह समस्या शहरी लोगों  देखने को मिलती है। इसके अलावा यह समस्या बड़े लोगों से अधिक बच्चों तथा युवाओं में ज्यादा होती है।  हमारे देश में करीब 20 से 30 फीसदी लोग एलर्जी से ग्रस्त हैं। धूल, मिट्टी, दूषित हवा, दूषित खानपान तथा जीवन शैली से स्किन एलर्जी की  होता है।

स्किन एलर्जी का समाधान एलिएंट कैप्सूल –

एलिएंट कैप्सूल एक आयुर्वेदिक कैप्सूल है। इसका निर्माण विभिन्न प्राकृतिक घटकों से किया गया है। इसका सेवन लाल चकत्तों को घटाता है तथा तथा खुजली को मिटाने में मदद करता है। एक्जिमा, सनबर्न तथा चिकनपॉक्स से निर्मित हुए लाल चकत्तों को ख़त्म करने में एलिएंट कैप्सूल अपना महत्वपूर्ण योगदान देता है। इस कैप्सूल में एंटी-इंफ्लेमेटरी तथा एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं जो की स्किन एलर्जी की समस्या का निदान करने में सहायक होते हैं।

स्किन एलर्जी के लिए एलिएंट कैप्सूल का इस्तेमाल –

10 वर्ष से 18 वर्ष तक के बच्चों के लिए एक एक कैप्सूल सुबह शाम गुनगुने पानी से देना चाहिए। इसके अलावा 18 से 30 वर्ष तक के युवाओं के लिए एक कैप्सूल सुबह, दोपहर तथा शाम को लेना चाहिए।

आखिर एलिएंट कैप्सूल यूनिक क्यों है –

एलिएंट कैप्सूल एक हर्बल औषधी है। अतः इसके कोई दुष्प्रभाव नहीं होते हैं। इसमें गंधक रसायन, नीम छाल सत्व, गिलोय सत्व, चित्रक मूल सत्व, त्रिफला त्रिकटु, त्रिवृत आदि विभिन्न औषधियों का इस्तेमाल किया गया है। इस औषधि का हर उम्र का व्यक्ति आसानी से सेवन कर सकता है। यह औषधी स्किन एलर्जी की समस्या को जल्दी ही जड़ से ख़त्म करने में उपयोगी है।

स्किन एलर्जी की समस्या में एलिएंट कैप्सुल का महत्व –

1 – जिन बच्चों को मोटापे के कारण पसीना अधिक आता है। उनमें स्किन एलर्जी होने की संभावना अधिक होती है। अतः ऐसे लोगों के लिए यह एक कारगर औषधी है।

2 – गंदे कपड़ो के उपयोग से भी स्किन एलर्जी की समस्या पैदा हो जाती है। ऐसी स्थिति को दूर करने के लिए एलिएंट कैप्सुल लाभकारी साबित होता है।

3 – धूल, मिट्टी तथा प्रदुषण के कारण भी स्किन एलर्जी हो जाती है। इस समस्या को ख़त्म करने के लिए एलिएंट कैप्सुल एक लाभदायक औषधी है।

4 – अधिक धूप, वर्षा तथा बढ़ी हुई उम्र में शुगर के कारण हुई स्किन एलर्जी में एलिएंट कैप्सुल लाभकारी होता है।

5 – स्किन ड्राइनेस के कारण होने वाली स्किन एलर्जी में भी एलिएंट कैप्सुल कारगर होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *